Rajasthan Update
Rajasthan Update - पढ़ें भारत और दुनिया के ताजा हिंदी समाचार, बॉलीवुड, मनोरंजन और खेल जगत के रोचक समाचार. ब्रेकिंग न्यूज़, वीडियो, ऑडियो और फ़ीचर ताज़ा ख़बरें. Read latest News in Hindi.

भ्रूण लिंग परीक्षण के आरोप में महिला दलाल गिरफ्तार, दो को किया डिटेन

जयपुर, 18 जुलाई। राज्य पीसीपीएनडीटी प्रकोष्ठ ने विगत एक माह में लगातार तीसरी सफल डिकॉय कार्यॉवाही को अंजाम देते हुए मंगलवार को गुजरात के हिम्मतनगर कस्बे में स्थित यशदीप अस्पताल में इंटरस्टेट कार्यवाही कर भ्रूण लिंग परीक्षण करने के आरोप में महिला दलाल शांता देवी, उम्र 48, निवासी उदयपुर को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही भ्रूण लिंग जांच की एवज में लिये गये हू-ब-हू नम्बरी नोट राशि 10 हजार रुपए एवं सोनोग्राफी मशीन भी जब्त कर ली है।

भ्रूण लिंग परीक्षण करने वाले चिकित्सक महेन्द्र कुमार (संचालक, यशदीप अस्पताल) एवं अन्य सहायक चिकित्सक दीपक कुमार पटेल, निवासी हिम्मन नगर गुजरात अचानक कार्यवाही से घबराकर तबीयत खराब होने पर एक निजी अस्पताल में जैर ईलाज हैं। दोनों आरोपियों की निगरानी के लिए सुरक्षाकर्मी तैनात कर दिये गए हैं।

अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग शुभ्रा सिंह ने बताया की मुखबिर के माध्यम से सूचना मिली कि राजस्थान-गुजरात सीमावर्ती क्षेत्रों में भ्रूण लिंग परीक्षण करने वाले गिरोह सक्रिय हैं। सूचना के पुष्टिकरण के बाद अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडी मिशन निदेशक डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सतवीर सिंह के सुपरविजन में डिकॉय दल का गठन किया गया।

उन्होंने बताया कि मुखबिर ने पहले दलाल महिला से सम्पर्क किया। भ्रूण लिंग परीक्षण के एवज में 40 हजार रुपए की मांग की थी। महिला दलाल शांता देवी ने दलाल ने उदयपुर के बलीचा चौराहे पर मंगलवार प्रातः 9.00 बजे बुलाया। दलाल निजी वाहन से डिकॉ गर्भवती महिला एवं सहयोगी को लेकर गुजरात के सामलाजी मंदिर गए। वहां कुछ देर पूजा कर गुजरात के हिम्मतनगर ले गये। वहां कुछ देर गलियों में इधर-उधर घुमाने के बाद हिम्मतनगर स्थित निजी यशदीप अस्पताल लेकर गए। वहां इस अस्पताल के चिकित्सक महेन्द्र कुमार एवं दीपक ने डिकॉय महिला की सोनोग्राफी कर गर्भ में पल रहे बच्चे के लिंग के बारे में जानकारी दी। इस पर डिकॉय महिला का ईशारा मिलते ही टीम ने भ्रूण लिंग परीक्षण के आरोप में दलाल को गिरफ्तार एवं दोनों चिकित्सकों को डिटेन कर लिया है। दोनों चिकित्सक मौके के कार्यवाही के दौरान ही अपनी तबीयत खराब होने के कारण पास में स्थित अन्य निजी अस्पताल में भर्ती हो गये। इलाज के दौरान दोनों चिकित्सक आरोपियों की निगरानी के लिए सुरक्षाकर्मी तैनात कर दिये गए हैं। अस्पताल से डिस्चार्ज होने पर अग्रिम विधिक कार्यवाही अमल में लायी जाएगी। डिकॉय कार्यवाही के बाद सोनोग्राफी मशीन भी जब्त कर ली गयी है।

इस कार्यवाही में सीआई उम्मेद सिंह, हैड कांस्टेबल चंद्रभान, कैलाश, मुकेश, नरेद्र एवं महिला कांस्टेबल शानू सहित उदयपुर के पीसीपीएनडी समन्वयक मनीषा, सिरोही के देवकिशन, पाली के मो. सफीक इकबाल एवं जालोर के शंकर सुथार शामिल थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.